Tag: West bengal

Total 11 Posts

घृणात्मक राजनीति के चरम पर जलता बंगाल!

ममता बनर्जी का बंगाल एक बार फिर से लहूलुहान हुआ है. बंगाल के मुर्शिदाबाद में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक के साथ जो हुआ, वह आपकी रूह कंपा देने के

TMC नेता ने ग़लती से बताया सच, पहले से ही टूटा हुआ था हाथ

बीजेपी के नेता अमित शाह की बंगाल रैली के बाद तृणमूल कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं में भिड़ंत हो गई. ऐसा बताया जा रहा था कि इसी भिड़ंत में तृणमूल कांग्रेस

पश्चिम बंगाल के गाँव से हो रहा हिंदुओं का पलायन

चुनाव हिंसा के बीच एक दुखद ख़बर बंगाल के गाँव से आ रही है. जहाँ कई बीजेपी कार्यकर्ताओं और समर्थकों की हत्या, मारपीट इत्यादि हो ही रहा है वहीं बगाखाली

दिल्ली में बुद्धिजीवियों को नींद से जगाती मरती हुई मानवता, ध्रुव राज त्यागी के जख्म मांगे सेक्युलरिज़्म से हिसाब!

दिल्ली की गलियां एक बार फिर से रक्तरंजित हो गई है. समाज के तमाशबीन लोगों के बीच एक ईमानदार व्यक्ति की हत्या सिर्फ इसलिए कर दी गई क्योंकि वह अपने

नेत्री जी आपको चाय नहीं, सच के कड़वे घूँट की ज़रूरत है

चुनावों में जनता से ज़्यादा तत्पर उनके सामने खड़े नेता को रहना चाहिए. भले ही दिखावे के लिए ही सही, पर कम से कम चुनाव ख़त्म होने तक ही दिखावा

अपने राजनैतिक अंत की तरफ बढ़ती ममता

बंगाल में लोकतंत्र का यह हाल दयनीय है. गुंडागर्दी, अलोकतांत्रिक व्यवस्था और ममता बनर्जी का निरंकुश शासन बंगाल की आत्मा को छलनी कर रहा है. यह बंगाल का एक दुर्भाग्य

लोकतंत्र पर कुठाराघात है ममता की तानाशाही

लोकतंत्र बचाने वालों का असल उद्देश्य आज सामने आ गया. आज लोकसभा चुनावों की 95 सीटों पर चुनाव का दूसरा चरण था. पश्चिम बंगाल में भी वोटिंग थी, लेकिन पश्चिम

लोकतंत्र को ममता से खतरा है

लोकतंत्र खतरे में था, है और तब तक रहेगा जब तक राजनीतिक स्वार्थ से हटकर राजनीतिक दल नहीं सोचते. लोकतंत्र को खतरा पूरे भारत में नहीं बल्कि देश के कुछ

ब्रिगेड मैदान की ऐतिहासिक रैली के मायने

ब्रिगेड मैदान की रैली का पश्चिम बंगाल की राजनीति में वही ऐतिहासिक और मनोवैज्ञानिक महत्व है जो  बिहार की राजनीति में गाँधी मैदान का और दिल्ली में रामलीला मैदान का