Tag: sonia gandhi

Total 17 Posts

मैं नहीं मानता कि ये बुरा प्रदर्शन था, हम इससे भी बुरा प्रदर्शन कर सकते थे.

ए के एंंटनी का बयान – मैं नहीं मानता कि ये बुरा प्रदर्शन था, हम इससे भी बुरा प्रदर्शन कर सकते थे. चुनाव हारने के बाद राहुल गांधी ने कांग्रेस

देश के विपक्ष को फिर एकबार संदेश देता राजनीति के पितामह का ऐतिहासिक भाषण!

उस कालखंड को याद करिए जब अटल बिहारी वाजपई सदन में सोनिया गांधी द्वारा लगाए गए आरोपों का उत्तर दे रहे थे. अपना जवाब देते हुए अटल बिहारी वाजपेई ने

क्वीन एलिज़ाबेथ को भी मुँह चिढ़ाती लक्ष्यद्वीप में राजीव गाँधी की वो पार्टी…

लक्ष्यद्वीप में दस लोगों की पार्टी चल रही है. पार्टी में अन्य मेहमानों को भी बुलाया जाता है. मेहमानों की लिस्ट देखिये – अमिताभ बच्चन, जया बच्चन और उनके तीन

अतीत के पन्नों से राजीव गांधी द्वारा चलाया गया नफ़रत का अभियान

पिछले दो दिनों से अचानक से स्वर्गीय प्रधानमंत्री राजीव गांधी के बारे में तरह तरह की तारीफ़े सुनने को मिल रही हैं . कारण नरेंद्र मोदी द्वारा उन्हें भ्रष्ट कहा

मोदी पर अंधाधुंध हमले करते राहुल गाँधी हुए जवाब से आहत!

राहुल गांधी इस समय बहुत गुस्से में है. जाहिर सी बात है कि राहुल गांधी के साथ पूरी पार्टी गुस्से में होगी. कांग्रेस पार्टी का एक गुस्सा इसलिए भी है

भीड़तंत्र से डरते पत्रकारों के सवाल!

एक लोकतांत्रिक व्यवस्था का मजाक कैसे बनता है. इसका जरा आप एक उदाहरण देखिए. प्रियंका गांधी अपने भाई और कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी

कांग्रेस के ‘न्याय’ पर कोर्ट ने किया न्याय, कहा ”72000 रुपए सालाना का वादा रिश्वत जैसा”

लोकसभा चुनाव में बीजेपी को हराने के लिए पार्टियों हर तरह के पैंतरे आज़मा रही हैं. इसी क्रम में कांग्रेस पार्टी ने वादा किया है कि अगर वह सत्ता में

अमेठी-रायबरेली सुना रहे हैं गांधी परिवार की यशगाथा

जब भी राहुल गाँधी को प्रधानमंत्री बनाने की बात आती है तो सबसे पहला सवाल यही उठता है कि आखिर इतने सालों में उन्होंने अमेठी में किया क्या है. स्मृति

क्वीन एलिज़ाबेथ के वफादारों और राष्ट्र निर्माताओं के मध्य द्वंद का तीसरा अध्याय

इस देश के प्रधानमंत्री को दिन में न जाने कितनी सलाहें मिलती हैं. आज उनको एक और सलाह मिली है. इस बार मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता

क्या गांधी परिवार अवसान की ओर बढ़ रहा है?

आज की राजनैतिक परिस्थितियों को देखते हुए हमें एक बार इतिहास में जाने की आवश्यकता है. क्या होगा, या क्या नहीं होगा, यह तो बाद की बात है. पहले यह