Tag: loksabha elections 2019

Total 18 Posts

एक देश: एक चुनाव – व्यावहारिक दिक्कतें और सैद्धान्तिक सवाल

भारत के सशक्त, जीवन्तमान और फलते-फूलते लोकतंत्र के जीवन में वह समय आ गया है जबकि उसकी कुछ कार्य प्रणालियों की समीक्षा हो। सहमति बनाकर उनमें बदलाव हो। इनमें से

एग्जिट पोल्स पर ही बिफर पड़े पत्रकारिता के ‘नैतिक पुरुष’; टीवी स्टूडियो में जारी हुआ वैचारिक ब्लैकआउट

पत्रकारिता के ‘नैतिक पुरुष’ इस समय विचित्र ‘जात संकट’ में फंसे हुए हैं. समझ में यह नहीं आ रहा है कि पांच साल एड़ियां रगड़ने के बाद भी वैचारिक मतभेद

प्रेस वार्ता में भी दिखी दो परस्पर विरोधी वैचारिक दलों के बीच मुद्दों की समानता, जो बहुत से लोगों की नज़रों से छूट गयी.

शुक्रवार को प्रधानमंत्री मोदी और कांग्रेस, दोनों की ही प्रेस कांफ्रेंस थी. कहने सुनने के लिए बहुत से अवसर थे लेकिन एक बहुत बड़ा अंतर इन दोनों ही प्रेस कांफ्रेंसेस में

TMC नेता ने ग़लती से बताया सच, पहले से ही टूटा हुआ था हाथ

बीजेपी के नेता अमित शाह की बंगाल रैली के बाद तृणमूल कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं में भिड़ंत हो गई. ऐसा बताया जा रहा था कि इसी भिड़ंत में तृणमूल कांग्रेस

लोकतंत्र पर जड़े थप्पड़ के पीछे हैं केजरीवाल?

आज देश की राजनीति का एक और काला अध्याय लिख दिया गया. अरविंद केजरीवाल आज दिल्ली की एक लोकसभा सीट पर रैली के लिए निकले थे. रैली थोड़ी आगे ही

समाजवादी पार्टी ने की नीचता की हद पार, मोदी विरोध में घर से उठा लाए दो साल का बच्चा

समादवादी पार्टी के नेताओं द्वारा आए दिन शर्मनाक बयान तो दिए ही जाते हैं पर हाल ही कुछ ऐसा हुआ जो इन बयानों से परे था. 24 अप्रैल को अखिलेश

भारत की पुरानी राजनैतिक शुचिता की लाज रखता मोदी का इंटरव्यू

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अक्षय कुमार को एक इंटरव्यू दिया गया. अक्षय कुमार एक अभिनेता हैं. वो कोई पत्रकार नहीं है. यही बात कुछ सेक्युलर पत्रकारों को चुभ सकती है.

कांग्रेस की मृगतृष्णा के सामने चुनौती बनता भगवा सम्मान

साध्वी प्रज्ञा को आज भाजपा से भोपाल का टिकट मिला है. कहने बताने को बहुत कुछ है लेकिन अभी सिर्फ एक मुद्दे पर बात करेंगे और वह है चुनावों में

छोड़ सियार भाई कुल्हड़ के आसा, तमासा बन जाइब, होइहे निरासा

“छोड़ सियार भाई कुल्हड़ के आसा, तमासा बन जाइब, होइहे निरासा…” भोजपुरिया गीत है. मनोज तिवारी का गाया हुआ. लेकिन हम यहां इन गाने की बात क्यों कर रहे हैं.

कैसे कैसे लोगों को कांग्रेस दे रही टिकट

देश की सबसे पुरानी पार्टी के रूप में पहचानी जाने वाली पार्टी कांग्रेस की पिछले लोकसभा चुनाव में बुरी हार हुई थी. यह हार इतनी बड़ी थी कि भाजपा की