Category: Story

Total 3 Posts

तुम्हें आज सेल्स टैक्स ऑफ़िस जाना होगा

स्कूल से दफ़्तर पहुँचते ही नवरंग जी ने यह फ़रमान सुना दिया. बात 1986 की है. मेरा स्कूल व दफ़्तर साथ ही चलता था. नवरंग जी हमारे बड़े बाबू थे.

शेष दिन भी यूँ ही निकल जाएंगे

सर्दियों में अक्सर वह सफेद बैकग्राउंड पर वायलेट रंग के शेड्स में महीन फूल-पत्तियों के छाप वाली साड़ी पहन कर आती थी. उसे देखते हीं मेरे सहकर्मी कहते थे; “लो सर