Category: Parody

Total 25 Posts

सरकारी नौकरी vs प्राइवेट नौकरी

तो भाइयों और बहनो आज का शीर्षक बड़ा ही दिलचस्प है. एक दो दिन पुरानी याद साझा करना चाहती हूँ आपसे. बात यूँ थी कि हमारी प्रिय कज़िन बहन माताजी

उधर भी ‘लगभग’ सब मिले हुए हैं जी

प्रभु श्रीराम का दरबार सजा था. अंगद, सुग्रीव व हनुमान इत्यादि का बेसब्री से इंतजार हो रहा था. सीता मैया के खोज में गए सारी टुकड़ियां वापस आ गयी थी.

फिटनेस का फलसफा

आजकल 6-पैक एब्स काफी प्रचलन में हैं. इसके लिए मैं हमारे बॉलीवुड के अभिनेताओं का खास तौर पर शुक्रिया अदा करता हूँ.  स्टीव जॉब्स ने जैसे हमें सिखाया कि iPhone

एक अर्बन नक्सल का इंटरव्यू

नरोत्तम कालसखा बहुत बड़े मानवाधिकार कार्यकर्ता हैं. बड़े से मेरा मतलब काफी लम्बे हैं. कह सकते हैं ये मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के शिरोमणि हैं. कुछ लोग इन्हें अर्बन नक्सल कहकर बदनाम

लंका विजय के बाद

तब भारद्वाज बोले, “हे ऋषिवर, आपने मुझे परम पुनीत राम-कथा सुनाई, जिसे सुनकर मैं कृतार्थ हुआ. परन्तु लंका-विजय के बाद बानरो के चरित्र के विषय में आपने कुछ नहीं कहा.

प्यार का पंचनामा: फ्लैशबैक में

  समय के साथ जीवन सरल होता जा रहा है. हर घटना आपके पांच इंची फ़ोन में घटने के पहले खबर बनकर चमक जाती है. अलेक्सा जी गाने सुनाती हैं

मैं सेफोलॉजिस्ट बनूँगा..

  कई लोग तो ज्योतिष को भी विद्या मानने को तैयार नहीं, कुछ तो विज्ञान की वैज्ञानिकता पर ही सवाल उठा देते हैं. मैं उदार हूँ. मैं सेफोलॉजी को भी

दरबारी होली – बुरा न मानो होली है!

दिल्ली दरबार की होली सभा में राष्ट्रऋषि अपने सिंहासन पर विराजमान हैं. उनके नीचे की अति आरामदेह, आरामदेह और सामान्य कुर्सियों पर पदानुरुप मंत्री, संतरी और यंत्री बैठे हुए हैं.