Category: Life

Total 4 Posts

बदलते जमाने संग बदलती रीत

बदलते जमाने के साथ हमें भी बदलना चाहिए, यही समय की रीत है. कलि प्रथम चरण में ताबड़तोड़ ऐसे एसे बदलाव हुए कि लोग हैरान-परेशान सोचते रहे और आसपास द्रुत

हार : स्त्री की अपने गहनों से भावनात्मक जुड़ाव की एक कहानी

छह महीने भी नहीं हुए थे नई बहू को, घर की हर बात उसे समझ आ गयी थी. धीरे धीरे घर में होने वाले हर निर्णय में उसकी राय भी ली

परीक्षा और परेशानी

परीक्षा का समय आ चुका है. विद्यार्थी अपने अपने जुगाड़ और ट्रिक्स के प्रयोग में जुट चुके हैं. साल भर की मौज मस्ती पर फ़िलहाल कुछ दिनों का विराम और

यादों के झरोखे से : रिक्शावाला

“कै गो अमदी है?” – रिक्शेवाले ने पूछा! “अमदी”? – आँखो में प्रशनचिन्ह लिए अपने दोस्त की ओर देखा! मेरा मित्र जो बगल मे खड़ा था, उसने कहा “अरे ये