Category: विचार

Total 234 Posts

अब दक्षिण के किले को जीतने की रणनीति

लोकसभा चुनाव के पश्चात् भाजपा अब अपने संगठन को विस्तार देने की योजना के साथ आगे बढ़ रही है. अमित शाह अब गृह मंत्री भी हैं और पार्टी के राष्ट्रीय

Tik-Tok की ओवरस्मार्ट बिरादरी को भेजा गया साम्प्रदायिक संदेश

जब से इस देश में टिक टॉक ने पदार्पण किया है, तब से ही टिक टॉक एक ऐसा माध्यम बन गया है जहां भारत के युवा अपनी प्रतिभा को दिखाने

हॉरर फ़िल्मों से ख़त्म होता हॉरर

एक वक़्त था जब रात मैं रात में हॉरर फ़िल्में देखने से बचा करती थी. देखने का मन होता तो केवल दिन में ही देखती. देखें भी क्यों ना? आख़िर डरने

चांदनी चौक की घटना, सनातन संस्कृति पर हमला

चांदनी चौक में जो हुआ है, उसके बारे में बहुत कुछ कहा, लिखा जा चुका है. कहीं भी ऐसी कोई ख़बर नहीं आई जिससे ये स्पष्ट रूप से पता चल

पत्रकार जी! अभिव्यक्ति की आज़ादी सबको बराबर है!

हमारे देश के अंदर एक खास वर्ग ऐसा है जिसने अभिव्यक्ति की आजादी को भी “कंडीशनल टर्म्स” में बांट दिया है. कहने का मतलब यह है कि अभिव्यक्ति की आजादी

झूठे धार्मिक नारों के दम पर राजनैतिक एजेंडा!

कूचबिहार में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. वैसे देखा जाए तो एक प्रकार से यह हमारे देश के अंदर बिगड़ती हुई मानसिकता का एक प्रतीक है, लेकिन जब

मजहबी दंगल के बीच हारी ज़ाइरा वसीम!

दंगल गर्ल ज़ाइरा वसीम ने बॉलीवुड छोड़ दिया है. यह कोई बड़ी बात नहीं है. बड़ी बात उसके पीछे दिया जा रहा कारण है जो एक बड़े बवाल के लिए

मरते भविष्य के बीच सोता वर्तमान! कब खुलेगी नेताओं की नींद?

इस लगातार विकसित हो रहे देश के बच्चे बुखार से मर रहे हैं. यकीन मानिए पढ़ने में यह जितना अजीब लग रहा है, दुनिया के लिए ये उतना ही बड़ा

अतीत की मज़बूत नींव पर भविष्य की इमारत बनाती भाजपा!

देश की केंद्र सरकार दो बड़ी राष्ट्रीय पार्टियों के मध्य ही बनती रही है, लेकिन फिर भी आज एक पार्टी ऐसी परिस्थिति में खड़ी है कि उसके ऊपर राष्ट्रीय पार्टी

संयम के बांध तोड़ने को उकसाती दिल्ली की घटना! एक खतरनाक राजनीति का हो रहा उदय!

धर्म और राजनीति भारत में एक ही पक्ष की तरह देखे जाते हैं. राजनीति का धर्म हो लेकिन धर्म की राजनीति न हो, ऐसी बातें कई सारे नेताओं के मुंह