Category: धर्म-संस्कृति

Total 32 Posts

सिर्फ कांग्रेस ही नहीं, देश को भी असहज करते दिग्विजय सिंह! आंकड़े दे रहे गवाही!

कांग्रेस के नीति विचारकों में पता नहीं किस प्रकार की अल्पबुद्धि आ गयी है कि उन्हें इस समय राजनैतिक समझ का कोई आभास ही नहीं है कि आखिर कैसे उनके

अहकाम-ए-आलमगीरी में औरंगज़ेब ने खुद लिखी शिवाजी से हार की टीस!

मुग़ल सल्तनत में सबसे क्रूरतम शासकों में से एक का नाम औरंगज़ेब था. वो औरंगज़ेब जिससे देश में बहुत से लोग सहानुभूति रखते हैं. टीवी डिबेट्स में बहुत से ऐसे

सनातन संस्कृति के अवशेषों पर खड़ा विदेशी आक्रमणकारियों का दम्भ!

भारत को विभिन्न विशेषणों से सुशोभित किया जाता रहा है. जिसको इसमें धन और संपदा दिखी दी, उसने इसे ‘सोने की चिड़िया’ बोला. जिसने इसमें प्राकृतिक संसाधनों का भंडार देखा, उसने इसे ‘धरती का स्वर्ग’ कहा.

क्या भारत नहीं था आक्रमणकारी? इतिहास का कहना कुछ अलग है

कारगिल विजय दिवस की संध्या पर एक कार्यक्रम में बोलते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस देश ने कभी किसी के ऊपर हमला नहीं किया. हम हमेशा से अहिंसा

झूठे धार्मिक नारों के दम पर राजनैतिक एजेंडा!

कूचबिहार में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. वैसे देखा जाए तो एक प्रकार से यह हमारे देश के अंदर बिगड़ती हुई मानसिकता का एक प्रतीक है, लेकिन जब

मजहबी दंगल के बीच हारी ज़ाइरा वसीम!

दंगल गर्ल ज़ाइरा वसीम ने बॉलीवुड छोड़ दिया है. यह कोई बड़ी बात नहीं है. बड़ी बात उसके पीछे दिया जा रहा कारण है जो एक बड़े बवाल के लिए

नोट्रे डैम पर आंसू बहते पर अपने हज़ारो साल पुराने अतुल्य मंदिर के जलने का पता नहीं

दो दिन पहले फ्रांस के सबसे प्रसिद्ध स्थलों में से एक पेरिस के 850 साल पुराने मध्ययुगीन नॉट्रे-डेम कैथेड्रल में आग लग गई और मुख्य संरचना को छोड़कर भवन की

साध्वी प्रज्ञा पर लिबरल चिल्ल-पों से उभरे सवाल

साध्वी प्रज्ञा के भोपाल से नामांकित होने के बाद से ही मीडिया और लिबरल समाज यह साबित करने में लगा है की बीजेपी ने अपना असली रूप दिखा दिया और

जब एक सारस्वत ब्राह्मण को मिली इस्लाम की धमकी (अंतिम भाग)

भाग 1 और भाग 2 से आगे शायद यह वह समय था जब मैंने दुनिया के लिए खुद को खोल दिया था. वेस्टर्न आइडियाज, वेस्टर्न हिस्ट्री, इंडियन माइथोलॉजी, इस्लामिक इतिहास

गोआ के बड़बोले पादरी के बयान पर मीडिया की चुप्पी शर्मनाक

बीजेपी पर हमेशा ही हर चुनाव के पहले ध्रुवीकरण का आरोप लगाया जाता है. भले ही हर सभा में विपक्षी पार्टियाँ खुलेआम मुस्लिम और ईसाइयों को भड़काऐं कि अगर आप