Rashmi Singh

Rashmi Singh

99 Posts
Writer by fluke, started with faking news continuing the journey with Lopak.

जिस बात को मानने का साहस भारतीय मीडिया में नहीं उसे एक बांग्लादेशी पत्रकार ने कहा.

हाल ही में आए चुनाव नतीजों के बाद लिबरल मीडिया वही ग़लती दुहरा रहा है जो उसने 2014 में की थी. भाजपा की सत्ता को अल्पसंख्यकों के लिए ख़तरा बताने

स्मृति इरानी के क़रीबी सुरेन्द्र सिंह की हत्या, भावुक स्मृति इरानी ने अर्थी को दिया कंधा.

अमेठी में स्मृति इरानी के क़रीबी सुरेन्द्र सिंह की अज्ञात बदमाशों ने गोली मार कर हत्या कर दी. यहां के जामो पुलिस थानाक्षेत्र के अंतर्गत बरौलिया गांव के पूर्व प्रधान

मैं नहीं मानता कि ये बुरा प्रदर्शन था, हम इससे भी बुरा प्रदर्शन कर सकते थे.

ए के एंंटनी का बयान – मैं नहीं मानता कि ये बुरा प्रदर्शन था, हम इससे भी बुरा प्रदर्शन कर सकते थे. चुनाव हारने के बाद राहुल गांधी ने कांग्रेस

गठबंधन ने ठगा अखिलेश यादव को, बसपा के साथ के बाद भी सपा की एक भी सीट नहीं बढ़ी

2014 के लोकसभा चुनाव में मायावती जी की बहुजन समाजवादी पार्टी को एक भी सीट पर जीत हासिल नहीं हुई थी. 2019 में गेस्ट हाउस कांड और अपना तिरस्कार भुला

रवीश कुमार पचा नहीं पा रहे कन्हैया की हार, देखें वीडियो

2014 कि चुनावों में लगभग सभी लेफ़्ट इंटेलेकचुअल्स की सबसे बड़ी उम्मीद अरविंद केजरीवाल थे. पर यह उम्मीद कुछ ही समय में निराशा में बदलने लगी. फिर आए हार्दिक पटेल

क्या आम आदमी पार्टी और कांग्रेस गठबंधन करते तो हारती भाजपा?

पिछले दो महीने से अरविंद केजरीवाल यदि किसी बात से सबसे ज़्यादा परेशान थे तो वह था कांग्रेस का गठबंधन के लिए राज़ी ना होना. कांग्रेस की हस्ती मिटाने आए

सच में हो सकते हैं EVM हैक? जानें EVM की कार्य प्रणाली

पिछले पाँच वर्षों से हर चुनाव के बाद हम यही सुनते हैं कि भाजपा ने EVM हैक कर लिए. इस बार भी विपक्ष एग्ज़िट पोल के नतीजे देख अभी से

हिंसा से बाज़ नहीं आ रहे ममता दीदी के समर्थक, तृणमूल कांग्रेस पर फ़र्ज़ी वोटिंग और वोट डालने से रोकने का आरोप

लोकसभा चुनाव के आख़री चरणों में भी पश्चिम बंगाल में हिंसा की वारदातें जारी रहीं. भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या, उन पर हमले, भाजपा समर्थकों को डराना धमकाना, वोट में धाँधली

एग्जिट पोल्स में ख़ामियाँ: नीलसन ने भाजपा के नहीं गिने वोट्स, News X ने लिया मोबाइल ऐप का सहारा

चुनावी मौसम में हर व्यक्ति यह क़यास लगाने में जुटा हुआ है कि आख़िर जीतेगा कौन. आएगा तो मोदी ही या अब होगा न्याय. चुनाव के आख़री चरण के बाद

जब ममता बनर्जी खुद फ़र्ज़ी क्लेम करती हुई पकड़ी गयी

बीजेपी के नेता अमित शाह की बंगाल रैली के बाद तृणमूल कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं में भिड़ंत हो गई. ऐसा बताया जा रहा था कि इस भिड़ंत में तृणमूल कांग्रेस