Mukul Mishra

Mukul Mishra

42 Posts

तुष्टिकरण कब तक, कहाँ तक, किसकी कीमत पर?

शनिवार को जोधपुर में रामनवमी शोभायात्रा के विरोध में हिंदुओं के घरों पर हमला हुआ. कुछ घरों में आग लगा दी गई और कुछ पर पथराव हुआ. महिलाओं के साथ

जब श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने बंगाल को बचा लिया था

पश्चिम बंगाल में सन 1951 में मुस्लिम जनसंख्या 20 प्रतिशत से कम थी, आज 27 प्रतिशत से अधिक है. 1951 में ही पूर्वी बंगाल या पूर्वी पाकिस्तान में हिन्दू जनसंख्या

हिंदुत्व आन्दोलन पर लगने वाले आरोपों की वास्तविकता

हिंदुत्व के आन्दोलन से जुड़े संगठनों और उनसे सहानुभूति रखने वाले राजनीतिक दलों पर यह आरोप अक्सर ही लगता है कि जिस वैभवकाल को ये वापस लाने की बात करते

लालकृष्ण आडवाणी का संदेश

देश के पूर्व उपप्रधानमंत्री, भाजपा के वरिष्ठतम नेता और भारतीय राजनीति के पितृ पुरुष लालकृष्ण आडवाणी जी ने लगभग 5 वर्षों बाद ब्लॉग लिखा है. यह इस बात का भी

किसके साथ होगा उत्तरप्रदेश

कहते हैं कि दिल्ली का रास्ता यूपी से होकर जाता है. वैसे 1991 में नरसिंह राव के लिए यह रास्ता आंध्र प्रदेश, कर्णाटक और महाराष्ट्र के जरिये खुला था. 2004

ब्रिगेड मैदान की ऐतिहासिक रैली के मायने

ब्रिगेड मैदान की रैली का पश्चिम बंगाल की राजनीति में वही ऐतिहासिक और मनोवैज्ञानिक महत्व है जो  बिहार की राजनीति में गाँधी मैदान का और दिल्ली में रामलीला मैदान का

कांग्रेस का घोषणापत्र या चेतावनी पत्र

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने आसन्न लोकसभा चुनाव के लिए अपना घोषणापत्र जारी कर दिया है. घोषणापत्र तो क्या मैं इसे चेतावनी पत्र कहूँगा. अपने घोषणापत्र में कांग्रेस पार्टी कहती है

क्या हिन्दू खतरे में हैं?

चुनाव के शोर में एक बड़ी खबर आकर चली गई लेकिन किसी ने उस पर अधिक ध्यान नही दिया. खबर यह थी कि 20 मार्च, 2019 को समझौता एक्सप्रेस विस्फोट कांड में कांग्रेस सरकार

जब एक दलित को प्रधानमंत्री बनने से रोकने के लिए खेला गया घिनौना खेल

नरेन्द्र मोदी को दूसरे कार्यकाल से रोकने के लिए जिस तरह के गठजोड़ और जिस तरह की रणनीतिक साझेदारी दिख रही है, वह अवसरवादी राजनीति की पराकाष्ठा है. बसपा और