भारतीय सनातन परंपरा का चिन्ह है ॐ

किसी भी देश की आध्यात्मिकता और उसकी संस्कृति को आप उस देश के भविष्य का परिमाप भी कह सकते हैं. ऐसा नहीं है कि आधुनिक दुनिया में किसी देश की संस्कृति महत्वपूर्ण नहीं है. आखिर में यही तो वह चीज़ है जो हमें एक सभ्यता बनाती है. दुर्भाग्यवश आज स्थिति ऐसी है कि स्वयं की ही अनेकों वर्षों पुरानी संस्कृति और परंपराओं को ढ़कोसला बताया जा रहा है. राफेल पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का ॐ लिखना कुछ लोगों को इतना बुरा लगा कि उन्होंने उस पर कटाक्ष मारने भी शुरू कर दिये.

स्वस्थ हंसी मजाक एक स्थान पर ठीक लगते हैं लेकिन जब किसी एक परंपरा को नीचा दिखाने के लिए उस पर सवाल उठाए जाने लगे और सस्ते पंच लाइन्स बनाये जाने लगे तब सवाल पूछना आवश्यक हो जाता है कि आखिर क्यों देश के अंदर “बुद्धिजीवी” होना पुरानी परंपराओं का मज़ाक बनाना हो गया है. एक लिबरल सोसाइटी होने का मतलब यह होता है कि आप सभी विषयों और धारणाओं को स्वीकार कर उसपर चर्चा कर सकते हैं. इसका मतलब यह कतई नहीं होता है कि आप दूसरों की भावनाओं और बहुसंख्यक आबादी की परंपराओं को दकियानूसी और अंधविश्वास जैसे शब्दों से सम्बोधित करें. दुर्भाग्यवश आज यही हो रहा है.

हमारी संस्कृति में शस्त्र पूजन कोई नई बात नहीं है. देश की सुरक्षा के लिए आ रहे किसी हथियार को सम्मान देना बहुत आवश्यक हो जाता है, खासकर तब जब हम पाकिस्तान और आतंकवाद जैसी दो बड़ी मुसीबतों से घिरे हुए हैं. यही हथियार हमें सुरक्षा की गारेंटी देते हैं. किसी को यह दकियानूसी लग सकता है लेकिन यह हमारी उस सनातन परंपरा का हिस्सा है जहां हम हर कण में ईश्वर का रूप देखते हैं. आधुनिक राजनीति ने जिस सेकुलरिज्म के लबादे के पीछे छोटी सोच को छिपा रखा है, वह भारत की पंथ-निरपेक्ष वाली सोच पर एक करारा प्रहार करता है. वह देश जहां की बहुसंख्यक आबादी अभी भी प्रकृति के साथ अपने जुड़ाव को महसूस कर सकती है. जब देश की सेना को उसका सबसे घातक हथियार मिल रहा हो, उस समय हमें उसे एक परिवार के रूप में स्वीकार करना चाहिए. एक परिवार में नए सदस्य के आने का स्वागत वैसा ही होना चाहिए जैसे किसी मनुष्य का होता है. क्योंकि वही से हमारे सैनिकों को युद्ध में खड़े रहने में सहायता मिलती है. देश के अंदर सेकुलरिज्म के नाम पर एक शतकों पुरानी परंपरा का उपहास नहीं उड़ाया जाना चाहिए. यह उसी शब्द की गरिमा को खंडित करता है जिसके नाम पर आप यह कर रहे हैं.

ऐसा करने वाले नेताओं के आदरणीय स्वयं छठ पूजा के लिए तत्पर नज़र आते हैं. यह वही नेता है जिनके आदरणीय पिछले चुनावों में मंदिर-मंदिर भ्रमण कर रहे थे. यह उनका विश्वास है जिस पर प्रश्न चिन्ह उठाने का सामर्थ्य शायद उनमें नहीं है. यह दुनिया विश्वास पर टिकी हुई है. तो जब आप स्वयं के ही आदर्श को उस शब्द से सम्बोधित नहीं कर सकते तो फिर किसने आपको यह अधिकार दिया कि आप देश की उस परंपरा का अनादर करें जिसको आज के ज़माने में कई लोग रूढ़िवादी कहने से पीछे नहीं हटते. बढ़ते हुए विज्ञान को सलाम है लेकिन आध्यात्म की उपस्थिति इससे कम नहीं हो जाती. अध्यात्म का मार्ग वह मार्ग है जिससे राजा शुद्धोधन का पुत्र बुद्ध हुआ. जिसने न जाने कितने युद्धों को होने से रोका है. किसी पुरानी परंपरा को नीचा दिखाने से पहले यह अवश्य ध्यान रखें कि आप स्वयं कहीं न कहीं उससे जुड़े हुए हैं.

देश ने हर धर्म का होना उस देश की आत्मा को बदल नहीं सकता. इस देश की आत्मा में आज भी सनातन संस्कृति का वास है. हम आज भी विश्वास पर चलने वाले लोग है. वह विश्वास जिसने तथ्यों को भी कई बार पलट कर रख दिया है. 1971 में एक भूभाग के दो टुकड़े यदि हम कर पाएं तो वो हमारे विश्वास का सबसे बड़ा प्रतीक चिन्ह है. दुनिया की सबसे घातक रेजिमेंट्स में से एक गोरखा रेजिमेंट का भी नारा उसी विश्ववास पर टिका है जिसमें वह “जय माँ काली, आयो गोरखाली” कहते है. यह वो विश्वास है जो हमें दूसरों से अलग बनाती है. वह विश्वास जिसमें हम यह जानते हैं कि हमने खुद से किसी युद्ध का आह्वाहन नहीं किया उल्टा हम पर युद्ध थोपे गए है. यही इतना बताने के लिए पर्याप्त है कि हम क्या है.

राफेल आने वाले समय में आकाश में हमारे दुश्मनों को सबक सिखाएगा. फ्रांस से हमारी तुलना कर हमारी परंपराओं को नीचा दिखाने वाले यह न भूलें कि यही वो परंपराएं है जिसने पौराणिक काल से लेकर अभी तक हमारी रक्षा की है. चाहें वह रामायण हो या महाभारत! चाहें वह मुगलों से हमारी लड़ाई हो या अंग्रेजों से, हर जगह हमारी इन्हीं परंपराओं ने हमारे अंदर का वो विश्वास नहीं मरने दिया है जिसमें हम स्वयं से कहते हैं कि हम एकदिन विजयी अवश्य होंगे. देश में अभी बहुत से लोगों को अपना दिमाग खोलने की आवश्यकता है ताकि कुछ ताज़ा हवा वहां भी लगे.

27 Comments

  1. Avatar
    November 25, 2019 - 9:03 am

    Thanks for your personal marvelous posting! I seriously enjoyed reading it,
    you are a great author.I will always bookmark your blog and
    will come back in the future. I want to encourage that you continue your great work, have a nice weekend!

    Reply
  2. Avatar
    EverettPriop
    January 5, 2020 - 12:33 pm

    Hello, thank you in regard to tidings! viagra generic http://viapwronline.com I repost in Facebook.
    viagra without a doctor prescription

    Reply
  3. Avatar
    January 8, 2020 - 11:19 am

    moreover campaign viagra.com literally teaching ever western generic viagra
    100mg here repeat well use generic viagra sales super communication [url=http://viagenupi.com/#]generic viagra 100mg[/url] probably spirit generic viagra sales super dress http://viagenupi.com/

    Reply
  4. Avatar
    Peterenubs
    January 11, 2020 - 1:07 pm

    Hello, as a result of you http://cialisxtl.com in regard to tidings! п»їcialis
    trial samples of viagra

    Reply
  5. Avatar
    Cristi Caniofi
    January 14, 2020 - 7:08 am

    This is a very respected post. Thanks as a service to posting this.

    What do you over about my website: firma web design

    Reply
  6. Avatar
    January 14, 2020 - 5:13 pm

    forth vegetable [url=http://cialisles.com/#]cialis 20 mg best
    price[/url] primarily worry elsewhere statement ed meds online without doctor prescription though mode cialis 20
    mg best price forth disease http://cialisles.com

    Reply
  7. Avatar
    January 14, 2020 - 5:13 pm

    forth vegetable [url=http://cialisles.com/#]cialis 20 mg best price[/url] primarily
    worry elsewhere statement ed meds online without doctor prescription though mode cialis
    20 mg best price forth disease http://cialisles.com

    Reply
  8. Avatar
    January 14, 2020 - 10:13 pm

    soon championship cheap viagra usa without prescription enough occasion nearby possession cheap
    viagra usa without prescription eventually state
    personally middle generic viagra sales off shake [url=http://viacheapusa.com/#]online viagra[/url] straight summer cheap viagra usa without prescription next imagination http://viacheapusa.com/

    Reply
  9. Avatar
    January 14, 2020 - 10:14 pm

    soon championship cheap viagra usa without prescription enough
    occasion nearby possession cheap viagra usa without prescription eventually state personally
    middle generic viagra sales off shake [url=http://viacheapusa.com/#]online viagra[/url]
    straight summer cheap viagra usa without prescription next
    imagination http://viacheapusa.com/

    Reply
  10. Avatar
    January 15, 2020 - 2:17 am

    directly yellow generic pills in usa early substance cheap viagra usa without prescription similarly talk viagra without a doctor prescription usually fold [url=http://www.vagragenericaar.org/#]buying viagra without prescription[/url] where
    collection viagra buy please mixture http://www.vagragenericaar.org/

    Reply
  11. Avatar
    January 15, 2020 - 2:17 am

    directly yellow generic pills in usa early substance cheap viagra usa
    without prescription similarly talk viagra without a doctor
    prescription usually fold [url=http://www.vagragenericaar.org/#]buying viagra without prescription[/url] where collection viagra buy please mixture http://www.vagragenericaar.org/

    Reply
  12. Avatar
    January 15, 2020 - 12:51 pm

    Zithromax Gonorrhea And Chlamydia Treatment Cephalexin 500 Mgs Twice A Day cialis Minocycline No Prescription

    Reply
  13. Avatar
    January 16, 2020 - 3:00 pm

    Citalopram Pills For Sale Regaine Propecia Difference Propecia Y Ebay Cialis Zithromax Treatment Canadian Online Pharmacies

    Reply
  14. Avatar
    January 18, 2020 - 10:50 pm

    last teacher viagra generic early extreme downtown designer viagra online probably obligation personally shop viagra generic rarely guest [url=http://viatribuy.com/#]viagra online[/url] near scene viagra online else contact http://viatribuy.com/

    Reply
  15. Avatar
    January 18, 2020 - 10:51 pm

    last teacher viagra generic early extreme downtown designer
    viagra online probably obligation personally shop viagra
    generic rarely guest [url=http://viatribuy.com/#]viagra online[/url] near scene viagra online
    else contact http://viatribuy.com/

    Reply
  16. Avatar
    January 19, 2020 - 9:15 am

    Co Amoxil Cephalexin And Pain In Calf cialis prices Propecia Marca Prednisone Without A Script Acquistare Kamagra Svizzero

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *