ममता बनर्जी वाले क्षेत्रवाद का सुर अपनाते दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल!

हाल ही में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का एक बयान काफी सुर्खियां बटोर गया. उनका कहना था कि बिहार से 500 का टिकट ले कर आने वाला बिहारी 5 लाख का इलाज दिल्ली में करा जाता है जिससे दिल्ली के लोगों के इलाज में दिक्कत होती है. एक राज्य के मुखिया (भले ही आधे) होने के नाते एक नैतिक जिम्मेदारी उनकी ही बनती है कि वह दिल्ली के लोगों का ध्यान रखें. वैसे अपने बयान को उन्होंने पूर्ण रूप से सही बताया क्योंकि इसके बाद उन्होंने यह भी कहा कि इससे उनको कोई दिक्कत नहीं है लेकिन दिल्ली के लोगों के स्वास्थ्य की ज़िम्मेदारी भी उनकी है.

उनकी बात एक स्तर तक सही लगती है, जब तक वो एक राज्य के लोगों का नाम नहीं लेते. सोचिये की भारत की राजधानी का मुख्यमंत्री भारत के एक गौरवशाली राज्य के लोगों को अपने राज्य के लोगों की समस्याओं का कारण बताता है. यह दुर्भाग्यपूर्ण भी है और हैरत में भी डालने वाला है जहां एक राज्य के मुख्यमंत्री के मुंह से एक क्षेत्रवाद वाली भाषा का प्रयोग किया जाता है. अरविंद केजरीवाल के मुख से यह और भी अजीब लगता है क्योंकि उनके स्वप्न राष्ट्रीय स्तर तक जाने के थे. हरियाणा, पंजाब और गोआ में उनकी इकाई बताती है कि केंद्र में आने के उनके अरमान कम नहीं थे. एक राजनीतिज्ञ के लिए यह सही भी है क्योंकि वह भी अपनी महत्वकांक्षाओं को लेकर आगे रहना चाहता है.

मगर सवाल तब उठता है जब वह राष्ट्रीय स्तर पर पहुंचने के स्वप्न लिए क्षेत्रवाद वाली राजनीति खेलने लगता है. इससे पहले भी अरविंद केजरीवाल दक्षिण भारतीय लोगों को लेकर विवादित बयान दे चुके हैं. उनका कहना था कि तमिलनाडु के बच्चों के कारण दिल्ली के स्कूलों में दिल्ली के बच्चों को दाखिला नहीं मिल पा रहा. उन्होंने इसी विषय पर दिल्ली वालों से खुद को वोट देने की भी सिफारिश की थी कि यदि वो सत्ता में आते हैं तो यह सुनिश्चित करेंगे कि दिल्ली के बच्चों को दिल्ली के स्कूलों में दाखिला मिले.

इस विषय को लेकर उनके लिए एक ओपन लेटर भी एक दक्षिण भारतीय द्वारा लिखा गया. अरविंद केजरीवाल वो मुख्यमंत्री है जो सीधे शब्दों में बात करना जानते हैं. अपने सीधे शब्दों में ही उन्होंने यह कहा था कि चूंकि दिल्ली में आखिरी समय में मुसलमानों का वोट कांग्रेस में चला गया अतः वो चुनाव हार गए. यह मीडिया की हेडलाइंस भी बनी थी.

अपनी चुनावी तैयारी और कार्यों के बल पर उतरने वाली हर नैतिकता पर खरी पार्टी हार के बाद उसपर मंथन करने के लिए सीधे अपने कार्यकर्ताओं और अपनी योजनाओं पर ध्यान देती है. लेकिन अरविंद केजरीवाल ने इसको सीधे ही एक खास वोटबैंक से जोड़ा. यह एक और दुर्भाग्यपूर्ण घटना थी जो उनके राजनैतिक सफर में शामिल हो गयी. वहीं देश के पंतप्रधान के प्रति उनकी व्यक्तिगत खीझ देश से छिपी हुई नहीं है.

उनके ही राज्य में अंकित सक्सेना का भी केस हुआ, लेकिन उनके पास उसे देखने का समय नहीं था. लेकिन तबरेज अंसारी के परिवार वालों से मिलने वह दूसरे राज्य की सीमा पार कर गए. एक राजनेता के तौर पर आप किससे मिलने जाए या किससे नहीं यह आपका निजी विषय है लेकिन एक संवैधानिक पद पर बैठे हुए एक व्यक्ति पर यह जिम्मेदारी होती है कि वह अपने क्षेत्र के लोगों के लिए बढ़िया काम ही न करें बल्कि उनके सुख दुख में शामिल भी हो. मृत्यु पर भी यह दोहरा रवैय्या देखने में अच्छा नहीं लगता. अपराधी के लिए ऐसे दोहरे मापदंड प्रश्नचिन्ह लगाते दिखते हैं.

कुल मिलाकर अरविंद केजरीवाल की राजनीति आरोप प्रत्यारोप से शुरू हुई जो धरना प्रदर्शन के रास्ते दिल्ली विधानसभा तक गयी. अब वह दिल्ली के मुख्यमंत्री है तब भी आरोप प्रत्यारोप का दौर खत्म नहीं हुआ. यही चिंता का कारण है. किसी दूसरे राज्य के लोगों का कितना सहयोग आपके राज्य में होता है इसकी खबर दिल्ली के मुख्यमंत्री को होनी चाहिए. कई बिहारी अभी भी दिल्ली में अरविंद केजरीवाल के वोटर हैं. वह श्रम कर अपना पेट पालते हुए दिखते हैं. दिल्ली के ऑटोवालों में भी एक बड़ी संख्या बिहारी समाज की है. शब्दों के चयन से पहले केजरीवाल को दो घड़ी सोचना चाहिए क्योंकि जिस प्रकार की राजनीति में वो हैं, या जिस राजनीति के लिए वो जाने गए हैं, उनके पास गलती करने की बहुत कम गुंजाइश है.

14 Comments

  1. Avatar
    October 4, 2019 - 7:09 pm

    Does your blog have a contact page? I’m having trouble locating it
    but, I’d like to send you an email. I’ve got some recommendations for your blog you might be
    interested in hearing. Either way, great site and I look forward to seeing it expand over time.

    Reply
  2. Avatar
    October 5, 2019 - 1:33 pm

    It’s amazing to visit this website and reading the views of all mates about this piece of
    writing, while I am also zealous of getting experience.

    Reply
  3. Avatar
    October 5, 2019 - 7:07 pm

    Superb post however , I was wanting to know if you could write a litte more on this subject?
    I’d be very thankful if you could elaborate a little bit
    further. Bless you!

    Reply
  4. Avatar
    October 5, 2019 - 7:17 pm

    Hi there, just wanted to mention, I liked this article.
    It was helpful. Keep on posting!

    Reply
  5. Avatar
    October 5, 2019 - 7:56 pm

    You ought to take part in a contest for one of
    the highest quality blogs on the web. I will highly recommend this web site!

    Reply
  6. Avatar
    October 5, 2019 - 8:53 pm

    I visited multiple sites however the audio feature for audio songs current
    at this web site is truly wonderful.

    Reply
  7. Avatar
    October 6, 2019 - 7:01 am

    Hi there Dear, are you actually visiting this site daily, if so after that you
    will definitely take good knowledge.

    Reply
  8. Avatar
    October 6, 2019 - 11:20 am

    Hey I know this is off topic but I was wondering if you knew of any widgets I could add to my blog that automatically tweet my newest twitter
    updates. I’ve been looking for a plug-in like this for quite some time and was hoping maybe you would have
    some experience with something like this. Please let me know if you run into anything.
    I truly enjoy reading your blog and I look forward to your
    new updates.

    Reply
  9. Avatar
    October 7, 2019 - 7:52 am

    Hello There. I discovered your blog using msn. This is an extremely smartly
    written article. I’ll be sure to bookmark it
    and return to read extra of your useful information. Thanks for the post.
    I’ll definitely return.

    Reply
  10. Avatar
    October 9, 2019 - 2:37 am

    Yesterday, while I was at work, my sister stole my iphone
    and tested to see if it can survive a 40 foot drop, just so she can be a youtube sensation.
    My iPad is now broken and she has 83 views. I
    know this is totally off topic but I had to share it with someone!

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *