आतंकवाद का धर्म होता है! (भाग-1)

आतंकवाद को लेकर लगातार बहस होती रही है. क्या आतंकवाद का कारण विकसित देशों का शोषण है? क्या आतंकवाद किसी सभ्यता के खिलाफ है? क्या आतंकवाद सभ्यताओं का टकराव के कारण हैं? या फिर आतंकवाद किसी धर्म से प्रेरित है या कोई धर्म अपने प्रचार प्रसार के लिए दुनिया को डराने के लिए आतंतवाद का सहारा लेता है? 

इस बहस को ईमानदारी से आगे कभी नही बढाया गया बल्कि यू कहें कि अलग अलग समय में अलग अलग जगहों पर आतंकवाद को अपने स्वार्थ को ध्यान में रखकर परिभाषित किया गया.

अमरिका ने आतंकवाद का जब तक सामना नही किया था, तब तक वह भारत सहित तमाम देशों को यही प्रवचन देता था कि यह स्थानीय कानून व्यवस्था की समस्या है. 9/11 की घटना के पहले अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए ने पाकिस्तान के आईएसआई प्रमुख हमीद गुल के साथ मिलकर पूरे अफगानिस्तान में सोवियत यूनिन के खिलाफ सीधी लडाई न लडकर तालिबान नाम से जाने जाने वाली एक मुजाहीदीनो यानि मज़हबी लड़ाको की एक पूरी फौज ही खडी कर दी.

मुझे याद है उस वक्त पाकिस्तान के मुल्ला और मौलवी आईएसआई के इशारे पर बडे बडे जलसो मे अमरीका के हक में मजहबी किताबो की आड़ लेकर जुमे की नमाज के बाद दिए जाने वाले खुतबे में कहा करते थे. “हमें एहले किताब के साथ खडा होना चाहिए या दहरिया – काफिर सुर्ख झंडे के साथ”, और वहा खडी नमाजियो की भीड एक ही आवाज मे कहती थी- ‘नार-ऐ- तक़बी अल्लाह हो अकबर’.

अमरिका ने मजहब के नाम से बनी इस भीड का अपने मकसद के लिए जमकर इस्तमाल किया और काम निकल जाने के बाद मुजाहिदिनो को मरने के लिए छोड दिया. लेकिन कुछ समय बाद उसी मुजाहिदीन सोच ने जब पलटकर अमरिकी घमंड की उचाईयाँ छूने वाले ट्वीन टावर को धूल मे मिला दिया तो दुनिया भर मे लोकतंत्र की दुहाई देने वाले अमरिका ने दुनिया की हर अदालत और मानव अधिकार संस्थाओ, 

अंतराष्ट्रीय मंचो को धत्ता बताते हुए बार इस हमले को इस्लामिक आतंकवाद का न सिर्फ नाम दिया बल्कि बिना वक्त गवाए इस आतंकवाद का काम तमाम करने के लिए एक के बाद एक कई देशो पर ताबडडतोड़ हमले कर दिए. अब अमेरिका का अपना दर्द संसार का दर्द हो गया.

जानकार इस थ्योरी से बहुत कम सहमत है और ऐसा सोचने के कारण भी हैं. भारत में आतंकवाद की चर्चा वैसे ही होती है जैसे धर्मनिरपेक्षता और साम्प्रदायिक्ता पर हमें सुनने और देखने को मिलती है. और यहीं से शुरु होती है हिन्दु और मुसलमान की सियासत. दोनो ही पक्ष इस मुद्दे पर जो कहते है, वो करते नही हैं और जो करते हैं, वो कहते नही हैं.

सतही बातें करने में दोनो खूब गाल बजाते हैं. भारत की मिट्टी कभी सैक्यूलर शब्द की मोहताज कभी नही रही लेकिन लोकतंत्र के अंक गणित ने भारतीय राजनीति को सैक्यूलरिज्म का बंधक बना दिया. कश्मीर में भारत के खिलाफ लडी जा रही जंग को धार देने के लिए इस्लाम से प्रेरणा लिया जा रहा है.

कश्मीर में भारत विरोध की आड़ में हिन्दुओ के खिलाफ नफरत का जहर गली गली, सडक सडक फैलाया जा रहा है. इसे देखने और समझने के लिए चंद नारे जो खुले आम मज्जिदो से लगाए जा रहे है उनकी बानगी देखिए:

’कश्मीर में अगर रहना होगा, अल्लाह हो अकबर कहना होगा’’

’इस्लाम हमारा मक्सद है, कुरान हमारा दस्तूर, जिहाद हमारा रास्ता है’’

‘’हम क्या चाहते हैं निजाम-ए- मुस्तफा’’

‘’ला शिर्किया, ला शिर्किया, इस्लामिया इस्लामिया’’

’दिल में रखो अल्लाह का खौफ, हाथ में रखो क्लाशिनिकोव’’

‘’मुसलमान जागो काफिर भगाओ’’

इस आतंकवाद को धर्मनिरपेक्ष कहेंगे या साम्प्रदायिक. लेकिन वर्षों से कश्मीर की हर सरकार धर्मनिर्पेक्षता के नाम पर बनती है, कश्मीरियत की दुहाई दी जाती है, सूफी इस्लाम की शहनाई बजती है लेकिन हम एक राष्ट्र की रिट को चुनौती देने वालो को कभी भटके हुए, कभी भूले हुए, कभी सताए हुए, कभी बेरोजगारी की आड़ में तो कभी अन्याय की चीख के तमाम जज़बाती अल्फाज़ो से असल इरादों को ढकने की कोशिश करते रहे हैं.

अब इस तरफ ध्यान देने की बात है कि दुनिया भर से लेकर भारत पाकिस्तान बांग्लादेश मे परचम लहराने वाले तंज़िमों के नाम क्या हैं और इसकी प्रेरणा इस्लाम है या कुरान या फिर मज्जिद का मौलवी या फिर मदरसों का मौलाना.

‘जैश-ए- मौहम्मद’ अर्थात मौहम्मद की फौज, ‘हरकत-उल- मुज्जाहिदीन’, ‘हरकत-उल- अंसार’, ‘हिज़बुल मुज्जाहिदीन’, अर्थात अल्लाह के लडाको की पार्टी. लश्कर-ए- तयब्बा यानि पाक लोगो की फौज, अल-उम्माह अर्थात अल्लाह के लोग. अलकायदा को 1990 में ओसामा बिन लादिन ने बनाया और कुरान, शरिया, हदीस का हवाला देते हुए एक मज्जिद से अमरीका विरोधी फतवें जारी किए.

फतवें में कहा गया दुनिया के मुसलमानों अमरिका और इज़राइल के खिलाफ हथियार उठाओ कुरान इसकी इजाज़त देता हैं कि यहूदियो और यजिदियो को मारना अल्लाह की ख्वाइश को पूरा करना हैं. दूसरे फतवें मे कहा कि तुम्हे जहां भी अमरिकी और इज़राईली नागरिक मिलें उनका कत्ल कर दो ये तुम पर फर्ज आयत हैं.

आखिर ये क्या बात है कि दुनिया के किसी भी कोने में आतंकवादी संगठन हो वो इस्लाम अपने दिल में और कुरान अपने हाथ में लेकर ही कत्ल-ओ-गारत करता है. नाईजीरिया और कैमरुन में ‘बोको हराम’ नाम का इस्लामिक संगठन अब तक आठ हजार से ज्यादा लोगो की सरे आम हत्या कर चुका हैं.

आखिर ये कौन सी प्रेरणा है जो मज़हब पूछ पूछ कर मासूम लोगो की हत्या करने को अपना फर्ज बताता हैं. और ये कौन सी धर्मनिर्पेक्षता है जो केरल में आतंकवादी मदनी को बेल दिलाने के लिए राज्य विधानसभा का विशेष अधिवेशन बुलाने पर हमारे मार्क्सवादियो की फिरकापरस्ती के खिलाफ उठने वाली आवाज़ सुनाई नही देती और सात साल से बिना किसी चार्जशीट के जेल में बंद साधवी प्रज्ञा ठाकुर पर सवाल खडा करना साम्प्रदायिकता हो जाती हैं.

31 Comments

  1. Avatar
    May 29, 2019 - 3:17 am

    you’re in point of fact a just right webmaster.
    The website loading speed is incredible. It kind of feels that you are
    doing any unique trick. In addition, The contents are masterpiece.
    you’ve performed a wonderful activity in this matter!

    Reply
  2. Avatar
    June 1, 2019 - 7:49 am

    What’s up, this weekend is fastidious in support of me, for the reason that
    this moment i am reading this impressive informative paragraph
    here at my residence.

    Reply
  3. Avatar
    June 2, 2019 - 5:59 pm

    This is a really good tip particularly to those new to
    the blogosphere. Short but very accurate info… Appreciate your sharing this one.
    A must read post!

    Reply
  4. Avatar
    June 2, 2019 - 9:14 pm

    Thanks for the auspicious writeup. It in reality was once a enjoyment account it.

    Look complicated to far delivered agreeable from you!
    However, how could we keep up a correspondence?

    Reply
  5. Avatar
    June 5, 2019 - 11:32 am

    Greate post. Keep posting such kind of info on your page.

    Im really impressed by your blog.
    Hello there, You have done a fantastic job.
    I’ll certainly digg it and in my opinion recommend
    to my friends. I am confident they will be
    benefited from this website.

    Reply
  6. Avatar
    June 7, 2019 - 3:11 pm

    Hey! This is kind of off topic but I need some help from an established blog.
    Is it hard to set up your own blog? I’m not very techincal but I
    can figure things out pretty quick. I’m thinking about making
    my own but I’m not sure where to start. Do you have any ideas
    or suggestions? With thanks

    Reply
  7. Avatar
    June 22, 2019 - 4:52 am

    These are in fact fantastic ideas in concerning blogging.
    You have touched some good points here. Any way keep up wrinting.

    Reply
  8. Avatar
    July 1, 2019 - 1:11 pm

    After looking into a handful of the blog articles on your web site,
    I truly like your way of blogging. I book marked it to my bookmark website list and will be checking back soon. Take a look at
    my website too and let me know your opinion.

    Reply
  9. Avatar
    July 17, 2019 - 1:16 am

    Hi there! I know this is kinda off topic however I’d figured I’d ask.
    Would you be interested in exchanging links or maybe guest authoring a blog article or vice-versa?
    My blog goes over a lot of the same topics as
    yours and I think we could greatly benefit from each other.
    If you’re interested feel free to send me an e-mail. I look forward to hearing from you!
    Awesome blog by the way!

    Reply
  10. Avatar
    July 19, 2019 - 9:34 am

    Hello, I think your website might be having browser compatibility issues.
    When I look at your website in Ie, it looks fine but when opening in Internet Explorer,
    it has some overlapping. I just wanted to give you a quick heads up!
    Other then that, terrific blog!

    Reply
  11. Avatar
    July 23, 2019 - 7:37 am

    I’ve been surfing online greater than three hours these days,
    yet I never found any attention-grabbing article like yours.
    It is lovely worth sufficient for me. Personally, if all website owners and bloggers made just right content material as you did, the web will
    likely be much more helpful than ever before.

    Reply
  12. Avatar
    July 24, 2019 - 6:52 am

    Greetings! Very helpful advice in this particular post!
    It is the little changes that produce the biggest changes. Many thanks for sharing!

    Reply
  13. Avatar
    July 24, 2019 - 12:28 pm

    Saved as a favorite, I love your site! natalielise pof

    Reply
  14. Avatar
    July 31, 2019 - 4:11 pm

    This post is in fact a good one it assists new net viewers, who are wishing for blogging.

    Reply
  15. Avatar
    August 1, 2019 - 11:20 am

    Its such as you read my mind! You appear to grasp so much about this, like
    you wrote the ebook in it or something. I think
    that you can do with a few percent to power the message house a bit, however instead of that, that is
    excellent blog. A fantastic read. I will certainly
    be back. natalielise plenty of fish

    Reply
  16. Avatar
    August 14, 2019 - 7:10 am

    Hi there would you mind sharing which blog platform you’re working with?
    I’m looking to start my own blog soon but I’m having a
    difficult time deciding between BlogEngine/Wordpress/B2evolution and Drupal.
    The reason I ask is because your layout seems different then most blogs and I’m looking for something unique.
    P.S Apologies for being off-topic but I had to ask!

    Reply
  17. Avatar
    August 18, 2019 - 4:26 pm

    Thank you for another informative web site. Where else may
    just I am getting that type of information written in such a perfect means?
    I have a project that I’m simply now running on, and I’ve been on the glance out for such info.

    Reply
  18. Avatar
    August 18, 2019 - 8:01 pm

    There’s definately a lot to find out about this topic.
    I like all the points you made.

    Reply
  19. Avatar
    August 19, 2019 - 12:26 pm

    I appreciate, result in I found exactly what
    I used to be looking for. You have ended my 4 day long hunt!
    God Bless you man. Have a great day. Bye

    Reply
  20. Avatar
    August 24, 2019 - 12:04 am

    What’s up Dear, are you genuinely visiting this web site
    daily, if so after that you will absolutely
    take good know-how.

    Reply
  21. Avatar
    September 2, 2019 - 9:34 pm

    As the admin of this web site is working, no hesitation very soon it will be renowned,
    due to its feature contents.

    Reply
  22. Avatar
    September 3, 2019 - 11:26 pm

    This is really interesting, You’re a very skilled
    blogger. I have joined your rss feed and look forward to seeking
    more of your wonderful post. Also, I’ve shared your site in my social networks!

    Reply
  23. Avatar
    September 4, 2019 - 11:12 am

    Your style is so unique in comparison to other folks I have read stuff from.
    Many thanks for posting when you’ve got the opportunity,
    Guess I’ll just book mark this page.

    Reply
  24. Avatar
    September 7, 2019 - 9:29 am

    Howdy! Do you know if they make any plugins to assist with
    Search Engine Optimization? I’m trying to get my blog to rank for some targeted
    keywords but I’m not seeing very good gains. If you know of any please share.
    Cheers!

    Reply
  25. Avatar
    September 8, 2019 - 3:32 pm

    I’ve been browsing online more than three hours today, yet I never found any
    interesting article like yours. It is pretty worth
    enough for me. In my opinion, if all site owners and bloggers made
    good content as you did, the net will be much more useful than ever before.

    Reply
  26. Avatar
    September 25, 2019 - 11:00 am

    Please let me know if you’re looking for a article
    author for your site. You have some really great posts
    and I think I would be a good asset. If you ever want to take some of the load off, I’d really
    like to write some articles for your blog in exchange for a link back to mine.
    Please blast me an email if interested. Thanks!

    Reply
  27. Avatar
    September 28, 2019 - 6:41 pm

    Thank you for every other excellent post. The place else could anybody
    get that kind of information in such a perfect approach of writing?
    I have a presentation subsequent week, and I am on the
    look for such information.

    Reply
  28. Avatar
    October 9, 2019 - 1:43 pm

    Ahaa, its pleasant conversation regarding this article here at this webpage, I have read all that,
    so now me also commenting here.

    Reply
  29. Avatar
    October 11, 2019 - 10:35 am

    Amoxicillin Enterobacter Topical Propecia 5 Alpha Reductase How Do I Ask My Doctor For Cialis tadalafil cialis from india Isotretinoin 20mg Acne In Internet With Doctor Consult Propecia Caldea

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *